Travel guide

Welcome to livepahadi.com

(4.5★/2 Votes)

महाकालेश्वर मंदिर कैसे जाए? | कब जायें, कहां रुकें

महाकालेश्वर मंदिर कैसे जाए कब जायें, कहां रुकें

नमस्कार दोस्तों इस लेख में हम आपको बताएंगे भारत के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक प्रसिद्ध महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग की। जो मध्य प्रदेश राज्य के उज्जैन जिले में स्थित है। जिसे प्राचीन समय में अवंतिका नगर के नाम से भी जाना जाता था। इस स्थान पर महाकालेश्वर मंदिर शिप्रा नदी के किनारे स्थित है। यहां बसते हैं हम सभी के बाबा महाकाल इस प्रसिद्ध स्थान को महाकाल की नगरी के नाम से भी जाना जाता है।

संपूर्ण देश का एकमात्र स्थान जहां दक्षिण मुखी महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग की पूजा की जाती है। यहीं पर भगवान शिव जी का सबसे सक्तिशाली ओर विशाल रूप विराजमान है। माना जाता है कि श्री महाकाल के दर्शन मात्र से मृत्यु का भय खत्म हो जाता है तथा भक्तों को मोक्ष की प्राप्ति होती है।

अगर आप श्री महाकालेश्वर मंदिर उज्जैन की में दर्शन करने की सोच रहे हैं तो इस लेख को पढ़ने के बाद अपनी यात्रा को आसान बना सकते हैं।

  • श्री महाकाल नगरी जाने का सही समय
  • ठहरने की उत्तम व्यवस्था
  • घूमने लायक जगह
  • टैक्सी ऑटो रिक्शा किराया
  • ट्रेन सुविधा फ्लाइट सुविधा होटल सुविधा
  • भस्म आरती का समय
  • मंदिर जाने का अच्छा सीजन वह समय
महाकालेश्वर मंदिर कैसे जाए  कब जायें, कहां रुकें

महाकालेश्वर मंदिर उज्जैन कैसे जाएं? | हवाई मार्ग | रेल मार्ग | सड़क मार्ग

उज्जैन शहर में स्थित महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग बस से जाने के लिए, मध्य प्रदेश के सभी छोटे-बड़े शहरों से बस की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। ये बसें मध्य प्रदेश रोडवेज की है। अगर आप चाहें तो प्राइवेट बस से भी आसानी से उज्जैन तक पहुंच सकते हैं। और महाकालेश्वर मंदिर का दर्शन कर सकते हैं।

उज्जैन जाने के लिए मुख्य रूप से तीन मार्ग हैं

  • हवाई मार्ग,
  • रेल मार्ग ,
  • सड़क मार्ग

हवाई मार्ग से महाकालेश्वर मंदिर कैसे जाए? | mahakaleshwar mandir flight

अगर आप हवाई मार्ग से जाना चाहते हैं तो सबसे नजदीकी एयरपोर्ट “महारानी अहिल्या होलकर हवाई अड्डा” इंदौर एयरपोर्ट है इस एयरपोर्ट की टिकट आपको अपने राज्य के मुख्य एयरपोर्ट से आसानी से मिल जाएंगे। यहां से बाबा महाकाल मंदिर की दूरी लगभग 56 किलोमीटर है। यहाँ से आप बस, टैक्सी या केब लेकर आसानी से मंदिर तक पहुंच सकते हैं। इसमें आपको 1 घंटे से 1.5 घंटे का समय लग सकता है।

रेल मार्ग से महाकालेश्वर मंदिर कैसे जाए? | Mahakaleshwar temple train

अगर आप रेल मार्ग से जाना चाहते हैं तो उजैन देश के सभी छोटे बड़े स्टेशनों से कनेक्टेड है। दोस्तों उज्जैन रेलवे स्टेशन से मंदिर की दूरी लगभग 2 किलोमीटर है यहां से आप ऑटो रिक्शा में ₹15 से ₹20 किराया देकर मंदिर के प्रांगण पर आराम से पहुंच जाएंगे। यहां आपको 24 घंटे यातायात के साधन उज्जैन स्टेशन के आसपास देखने को मिलेंगे।

सड़क मार्ग से महाकालेश्वर मंदिर कैसे जाए? | Mahakaleshwar temple by road

उज्जैन जाने के लिए अगर आप सड़क मार्ग से जाना चाहते हैं तो यहां पर आपको सड़क बहुत ही अच्छी देखने को मिलेगी जिसमें आप 4-व्हीलर या टू-व्हीलर से जा सकते हैं। पर्सनल वाहन से आने वाले को सभी वाहनों को पार्किंग की सुविधा भी मिल जाएंगी। यदि आप बाय रोड पब्लिक ट्रांसपोर्ट सुविधा से आते हैं तो आप एमपीएसआरटीसी की सार्वजनिक बस का लाभ उठा सकते हैं। यह बसे एमपी के सभी जिलों से उज्जैन के लिए सेवा प्रदान करती है।

जब आप मंदिर पहुंच जाएंगे तो यहां पर आपको चारों और महाकाल के भक्तगण दिखाई देंगे जोकि अपने जयकारों व भक्ति में लीन रहते हैं। यह माहौल, देखकर आपके शरीर के अंदर एक सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न होगी।

महाकालेश्वर मंदिर उज्जैन में कहां रहे? | HomeStay and Hotel in mahakaleshwar ujjain

आपको उज्जैन रेलवे स्टेशन के आसपास ही बहुत से होटल ओर लॉज मिल जाएंगे। जहां आप अपने बजट अनुसार ठहर सकते हैं। यहां आपको होटल ₹300 से लेकर ₹3000 रुपए तक मिल जाएंगे। इन होटल्स की बुकिंग आप ऑनलाइन भी करा सकते हैं। यदि आप बाबा महाकाल की भस्म आरती में शामिल होना चाहते हैं। इसके लिए आपको रात से ही लाइन लगानी पड़ेगी तो आप मंदिर प्रांगण के आसपास की होटल को या धर्मशाला में रह सकते हैं। धर्मशाला में रहने के लिए आपको मंदिर की आधिकारिक वेबसाईट www.Mahakaleshwar.nic.in प्री ऑनलइन बुकिंग कराना होगा। जहां आपको नॉन एसी व एसी की सुविधा मिल जाएगी।

बाबा महाकाल के दर्शन कैसे करें?

मंदिर में प्रवेश से पहले आप शिप्रा वेली में अवस्य कर ले। जो मंदिर से 700 से 800 मीटर की दूरी पर ही स्थित है जहां से आप स्नान करके मंदिर में प्रवेश कर सकते हैं अब आप मंदिर में जब प्रवेश करेंगे तो यहां पर आपको जूते चप्पल उतारने के लिए निशुल्क व्यवस्था की गई है जहां पर आप अपने जूते चप्पल उतार सकते हैं।

महाकालेश्वर मंदिर के खंड?

महाकालेश्वर मंदिर तीन खंडों में बटा हुआ है-

  • बाबा महाकाल,
  • ओमकारेश्वर,
  • नागचंद्रेश्वर

नीचे बाबा महाकाल ओर बीच के हिस्से में ओमकारेश्वर भगवान तथा सबसे ऊपरी हिस्से में नागचंद्रेश्वर भगवान का मंदिर स्थित है। नागचंद्रेश्वर मंदिर का दर्शन साल में बस एक बार नाग पंचमी के अवसर पर होता है वैसे तो श्रद्धालुओं को महाकाल के दर्शन के लिए 2 से 3 घंटे लाइन में लगना पड़ सकता है और यदि आप लाइन में असमर्थ हैं तो वीआईपी दर्शन की सुविधा प्राप्त कर सकते हैं इसलिए आपको ₹250 रुपये का भुकतान भी करना होगा जिससे आप बिना लाइन लगे दर्शन कर सकते हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि महाकालेश्वर मंदिर सुबह 3:00 बजे से रात्रि 11:00 बजे तक खुला रहता है

  • इसी बीच 4:00 बजे 6:00 बजे तक भस्म आरती
  • सुबह की आरती 7:00 से 8:00 के बीच होती है
  • मध्यान्ह की पूजा 10:10 बजे से 11:00 के बीच होती है
  • शाम की पूजा 5:00 से 6:00 के बीच में होती है
  • बाबा महाकाल की आरती शाम 7:00 से 8:00 के बीच होती है

रात में 11:00 बजे के बाद मंदिर के कपाट बंद हो जाते हैं साथ ही साथ महाकालेश्वर मंदिर की सबसे प्राचीन प्रथा भस्म आरती है। मान्यता अनुसार जो बहुत किस्मत वाले होते है। केवल इन्हे ही भस्म आरती में शामिल होने का मोका मिलता हैं इस भस्म आरती में देश से ही नहीं बल्कि विदेशों से भी श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती है। कहां जाता है की भस्म आरती बाबा महाकालेश्वर को शुबह जगाने के लिए होती है। महाकाल को भस्म जमाने की पश्चात मंजीरे, ढोल, शंख आदि से आरती की जाती है।

भस्म आरती ऑनलइन बुकिंग | bhasm aarti booking

यदि आप भस्म आरती में शामिल होना चाहते हैं। तो अपनी यात्रा सुरू करने से पहले ही अपनी बुकिंग कर ले। आप मंदिर जाने से पहले इसकी ऑनलाइन बुकिंग कर सकते हैं जिसकी वेबसाइट का लिंक यह www.Mahakaleshwar.nic.in ओर ऑनलाइन बुकिंग में आपको 100 रुपये तक चार्ज लग सकता है।

Website www.Mahakaleshwar.nic.in
Toll free no18002331008

महाकालेश्वर मंदिर जाने का सबसे अच्छा समय-

महाकालेश्वर मंदिर जाने का सबसे अच्छा समय ठंड का समय हो सकता है जो अक्टूबर से अप्रैल है दोस्तों सावन के समय उज्जैन का मौसम बहुत ही अच्छा होता है तापमान लगभग 30 डिग्री के सेल्सियस के आस पास होता है जो भक्तों के लिए सुविधाजनक है ओर इस समय आपको बहुत से भीड़ ओर बहुत से आपको बाबा महाकाल के भक्त आपको दर्शन करते हुवे अवस्य दिखेंगे।

महाकालेश्वर मंदिर उज्जैन के आसपास घूमने लायक जगह

महाकालेश्वर मंदिर के अलावा यहां बहुत से मंदिर हैं जिन्हें आप देखने जा सकते हैं

  • हरसिद्धि हरसिद्धि माता मंदिर
  • रामघाट
  • काल भैरव मंदिर
  • गढ़ कालिका देवी मंदिर

महाकालेश्वर मंदिर उज्जैन में खाने पीने की व्यवस्था

दोस्तों हम बात करते हैं उज्जैन में खाने पीने की व्यवस्था के बारे में, तो यहां पर जाकर शाकाहारी भोजन देखने को मिलता है साथ ही आपको बिना लहसुन, प्याज के भी भोजन देखने को मिलेगा आपकी इच्छा अनुसार आपको राजस्थानी, पंजाबी वह साउथ इंडियन खाना मिल जाएगा।

कुल खर्चा और कुल समय

मंदिर के दर्शन के लिए आपको एक दिन काफी है। लेकिन अगर आप आसपास की जगह भी घूमना चाहते हैं तो आप यहां 2 से 3 दिन रुक सकते हैं। आप चाहे ऑटो बुक करके उज्जैन के आसपास की जगहो को भी घूम सकते हैं जिसमें आपको ₹300 से ₹500 तक खर्च करने पड़ सकते हैं। ऑटो बुक से पहले आप किराया सुनिश्चित कर लें ताकि आपको कोई परेशानी ना हो और आप टिकट और होटल का खर्चा हटाकर देखते हैं तो आपको 1000 से 1500 तक का खर्चा ही होगा। जिसमें आप मुझे के दर्शन कर सकते हैं अब आप ही निर्भर करती है कि आप कितने पैसे खर्च कर सकते हैं।

महाकाल के दर्शन के लिए क्या करना पड़ेगा?

महाकाल मंदिर परिसर की समिति ने श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए ऑनलाइन बुकिंग की सुविधा शुरू की है

उज्जैन कौन से महीने में जाना चाहिए?

मार्च से अप्रैल और अक्टूबर से नवंबर के महीनों में

भस्म आरती की बुकिंग कैसे करें?

www.mahakaleshwar.nic.in पर जाकर भस्म आरती की ऑनलाइन बुकिंग कर सकते है। यह नि:शुल्क है।

उम्मीद करते हैं कि आपको इस लेख से मंदिर तक जाने में सहायता होगी आपकी यात्रा मंगलमय हो धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *